Welcome to AMC NEWS : पाएं ताजा ख़बरें सबसे पहले और यदि आप चाहते हैं पल पल की अपडेट पाना तो Download करें AMC NEWS ANDROID APP और खबरों के साथ बने रहें| This is the Only Official Website of AMC NEWS     “Always Type www.amcnews.in . For advertising in this website contact us.”

बिहार मुंगेर बड़ी दुर्गा विसर्जन में इस तरह घटित हुई खुनी खेल ये है सम्पूर्ण खुनी कथा...

बिहार मुंगेर बड़ी दुर्गा विसर्जन में इस तरह घटित हुई खुनी खेल ये है सम्पूर्ण खुनी कथा...

बिहार के मुंगेर शहर में सोमवार की रात माता दुर्गा की प्रतिमा का पुलिस द्वारा जबरन विसर्जन कराए जाने का विरोध किए जाने पर पूजा समिति के सदस्यों और पुलिस जवानों के बीच पहले हाथापाई फिर पथराव व लाठीचार्ज के बाद पुलिस टीम द्वारा विवेकहीन निर्णय लेते हुए गोलियां चलानी शुरू कर दी।

फायरिंग में बेकापुर लोहापट्‌टी निवासी 18 वर्षीय अनुराग पोद्दार नामक एक युवक की मौत हो गई, जबकि गोली व भगदड़ में पुलिसिया फायरिंग से सात युवक जख्मी हो गए।

पुलिस की बर्बरता यही नहीं रुकी, पुलिस ने सभी दुर्गा प्रतिमाओं को अपने कब्जे में लेकर मंगलवार की सुबह सूर्योदय से पूर्व जबरन सोझीघाट पर विसर्जित करा दिया। जबकि परंपरा के अनुसार डोली व कहार के कंधे पर बड़ी व छोटी दुर्गा और बड़ी काली की प्रतिमा विसर्जित होती है परंतु पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए जबरन ट्रैक्टर के सहारे प्रतिमाओं को गंगा घाट में विसर्जित करा दिया गया।

पुलिस की इस बर्बरतापूर्ण कार्रवाई को लेकर शहरवासियों में आक्रोश देखा जा रहा है। चैंबर आफ कॉमर्स ने दाेषी पुलिस कर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई होने तक अनिश्चित कालीन बाजार बंद की घोषणा की है। वहीं भाजपा ने इस घटना की निंदा करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त किए जाने की मांग की है। इधर एसपी लिपि सिंह ने प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी की घटना को असामाजिक तत्वों की सोची समझी कार्रवाई बताया है। 

एसपी ने कहा कि पुलिस को निशाना बनाकर असामाजिक तत्वों द्वारा पथराव व फायरिंग किया गया, इस घटना में 17 पुलिस कर्मी घायल हुए है। पुलिस ने मौके पर से तीन हथियार, गोलियां और खोखा भी बरामद किया है। एसपी ने बताया कि 37 उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है।

गोली से जख्मी 02 युवकों को बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर कर दिया गया है। घायल युवकों में मोहली निवासी सुमित कुमार 14 वर्ष, कष्टहरणी घाट निवासी आशुतोष कुमार 17 वर्ष, पूरबसराय निवासी सौरभ कुमार 18 वर्ष, बांक निवासी आदित्य कुमार 17 वर्ष, लाल दरवाजा निवासी संजीव कुमार 30 वर्ष, श्यामपुर निवासी चंदन साव 28 वर्ष तथा मनिया चौराहा निवासी डब्ल्यू कुमार 15 वर्ष शामिल है। मंगलवार की सुबह मुंगेर सदर सीट के राजद व भाजपा के प्रत्याशी सदर अस्पताल पहुंचे और पुलिस की इस बर्बर कार्रवाई की निंदा करते हुए शोक संतप्त परिवार के सदस्यों को ढांढस बंधाते हुए दोषी पुलिस कर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की। घटना की जांच तथा दोषी कर्मियों की बर्खास्तगी की मांग की।

एसपी बोलीं- 15 जवान जख्मी; लेकिन किसी भी अस्पताल में नहीं दिखे घायल जवान...

इस घटना में एसपी 15 जवान के घायल होने की बात कर रही हैं। हालांकि घायल पुलिस कर्मियों की खोज मीडिया  की टीम ने सदर अस्पताल, पुलिस लाइन व थानों में की, लेकिन कहीं घायल पुलिस कर्मी नहीं मिले। जब एसपी से पूछा गया कि इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज होगी कि नहीं तो एसपी ने कहा कि कई प्राथमिकी दर्ज होगी। जिसकी प्रक्रिया चल रही है। फिलहाल चुनाव संबंधी विधि व्यवस्था को संभालना है।

परंपरा के अनुसार बड़ी मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन के पश्चात ही अन्य प्रतिमाओं का विसर्जन मुंगेर में होता है। करीब 11 बजे बड़ी मां दुर्गा की प्रतिमा शहर भ्रमण करते हुए पीएनबी चौक पहुंची। जबकि अन्य प्रतिमाएं दीनदयाल चौक के समीप कतारबद्ध थी। 11.15 बजे दीनदयाल चौक पर खड़ी शंकरपुर की प्रतिमा को जबरन आगे बढ़ाने का दबाव देने पर लोग भड़क उठे।

पिस्टल लहराते हुए दिखाई दिए मुफस्सिल थानाध्यक्ष ब्रजेश सिंह...

रात में हुई पुलिसिया बर्बरता का वीडियो और तस्वीरें मंगलवार को दिनभर सोशल मीडिया पर वायरल होती रही। एक वीडियो ऐसा भी वायरल हुआ जिसमें मुफस्सिल थानाध्यक्ष ब्रजेश सिंह पिस्टल लहराते नजर आ रहे हैं। थानाध्यक्ष का पिस्टल लहराना कई सवालों का जन्म देता है। हालांकि पूरे घटनाक्रम को अगर देखें तो गोलीबारी की घटना में जख्मी सुमित कुमार को सीने में छर्रे से जख्म आया है। अगर देखा जाए तो पुलिस 12 बोर की गोली का उपयोग नहीं करती। फिर छर्रे से युवक का जख्मी होना भीड़ द्वारा गोलीबारी किए जाने की संभावना को बल देता है।

पुलिस ने घटना स्थल से तीन कट्‌टा बरामद किया है, उनमें 12 बोर वाला एक कट्‌टा भी है। घटना के बाद पुलिस की बर्बर कार्रवाई को लेकर शहरवासियों में काफी आक्राेश है। मंगलवार को चैंबर आफ कामर्स के आह्वान पर शहर की सभी दुकानें बंद रही। सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। चौक-चौराहों पर शाम में गोलीबारी की घटना चर्चा का विषय बनी रही। तरह तरह का अफवाह भी फैलती रही।

असामाजिक तत्वों ने किया पथराव व फायरिंग: एसपी...

एसपी लिपि सिंह ने इसे असामाजिक तत्वों की हरकत बताया है। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में एसपी ने कहा कि दीनदयाल उपाध्याय चौक पर प्रतिमा विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा दुर्भावना से ग्रसित होकर पुलिस बल को निशाना बनाते हुए पथराव किया गया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर उग्र लोगों द्वारा फायरिंग भी की गई। भीड़ द्वारा की गई फायरिंग और पुलिस बल पर जानलेवा हमले में संग्रामपुर थानाध्यक्ष सर्वजीत कुमार, कोतवाली थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह, कासिम बाजार थानाध्यक्ष शैलेश कुमार, बासुदेवपुर ओपी अध्यक्ष सुशील कुमार सहित 17 अन्य पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। एसपी ने आगे कहा कि पुलिस को निशाना बनाकर असामाजिक तत्वों द्वारा पथराव और भीड़ द्वारा फायरिंग कर शहर में अफवाह फैलाई गई और माहौल को खराब किए जाने का प्रयास किया गया।

माता-पिता का इकलौता पुत्र था अनुराग पोद्धार...

गोली से जान गंवाने वाला 18 वर्षीय अनुराग पोद्दार अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। लोहापट्‌टी बेकापुर निवासी अमरनाथ पोद्दार को चार पुत्रियों पर काफी मन्नत के बाद पुत्र हुआ था। घटना के बाद परिवार में मातम है।
गोलीबारी में जख्मी हुए लोग, इसमें कई बच्चे भी शामिल...

विसर्जन के दौरान किस समय क्या घटना घटितहुई अब उसे जानते हैं...

05.00 कौड़ा मैदान चौक पर पहुंची प्रतिमा व जुलूस

रात 11.30 से 1.30 बजे तक होती रही झड़प, मंगलवार दोपहर बाद 2 बजे विसर्जित हुईं प्रतिमाएं

प्रतिमा के पास बैठे लोगों को घेरकर पुलिस ने बेरहमी से पीटा

11.30 से 1.30 बजे तक पुलिस और लोगों में होता रहा झड़प

11.20 लोगों ने विरोध किया तो चटकाई जाने लगी लाठियां

11.15 दीनदयाल चौक पर शंकरपुर की प्रतिमा को जबरन विसर्जित कराने पहुंचे

10.30 जवानों ने जबरन आरती की थाली को बुझाया

10.15 कहारों के आराम करने के बाद बाटा चौक पहुंची प्रतिमा

08.15 आजाद चौक पर टाइगर मोबाइल ने लाठी चलाई

07.00 चंद्रशेखर आजाद चौक पहुंची प्रतिमा और जुलूस

06.00 पीएनबी चौक पहुंची माता की प्रतिमा व जुलूस

05.30 बड़ी दुर्गा, छोटी दुर्गा व बड़ी काली का मिलन-आरती

01.00 बजे : शादीपुर स्थित मंदिर से बड़ी दुर्गा की प्रतिमा निकली

मां के सामने अनर्थ श्रद्धालुओं पर लाठीचार्ज : सोशल मीडिया पर यह तस्वीर वायरल है। वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि श्रद्धालु मां की प्रतिमा के पास शांति से बैठे है, इसके बाद भी पुलिस चारों ओर से घेर कर उनपर बेरहमी से लाठियां बरसा रही है। लाठीचार्ज में कई जख्मी है।
 

बिहार मुंगेर बड़ी दुर्गा विसर्जन में इस तरह घटित हुई खुनी खेल ये है सम्पूर्ण खुनी कथा... बिहार मुंगेर बड़ी दुर्गा विसर्जन में इस तरह घटित हुई खुनी खेल ये है सम्पूर्ण खुनी कथा... Reviewed by Admin on अक्तूबर 28, 2020 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.